Private Browsing Secret!

ये उतना प्राइवेट नहीं है जितना के आप सोचते है|  न्यू modern browser कई  अलग  अलग नामो से प्राइवेसी ऑप्शन प्रदान करता है | 

chrome  me incognito mode, Firefox And Opera Me Private  Browsing, Internet Explorer And Microsoft edge Me In Private Browsing, Safari में Private Window आदि 

लेकिन ये सब हर काम या अधिक एक ही काम करते है| 
इसलिए मैं ये सब Chrome के Incognito Mode के बारे में एक ही राय देता हूँ| 
जब आप Chrome  के जो सबसे लोकप्रीय ब्राउज़र है| 
Incognito Window ओपन करते है तो वह अपने डिस्क्रिप्शन में ऐसा लिखता है की Prying Eyes से आपकी सुऱक्षा करने मैं इसकी कुछ सीमाएं  होती है| 
लेकिन अधिक तर users  द्वारा इस Description को अक्सर अनदेखा किआ जाता है | Incognito मूड मैं कोई भी उनकी सभी सीमाए एक्टिविटीज को हैक नहीं करते| ये सभी Users को गलती से लगता है| इसलिए Incognito Mode  मैं GOOGLE स्पस्ट करता

ये एक ऐसा मामला नहीं है  ” Your  activity is not hidden From website you visit, your employer or school और your internet service provider”
इसका मतलब यह है Incognito tabs मैं आप जो भी पेसेज ओपन करते है उनकी हिस्ट्री एंड कुकीज़ जैसे ही आप ब्राउज़र को क्लोज़ करते है, तो बोह लोकल पीसी पर स्टोर नहीं होता|

लेकिन आपके द्वारा डाउनलोड की जाने वाली  कोई भी फाइल या आपके द्वारा बनाये  गए बुकमार्क को वैसे ही रखा जायेगा जैसे जैसा आप चाहते है| हालाँकि, आप invisible नहीं होंगे| जब आप Incognito मूड मैं जाते है तो भी आपके एम्प्लायर आपके इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर का उन वेबसाइट से आपकी ब्राउज़िंग को छिपाया नहीं जायेगा |

प्राइवेट ब्राउज़िंग मूड्स असल में किआ करता है?
असल मैं दो टाइप की प्राइवेसी होती है Local  Privacy और ऑनलाइन प्राइवेसी
Local  Privacy में केबल यह होता है जो आपके ब्राउज़िंग के दौरान जो आपका पीसी देख सकता है  जैसे की आपकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री कुकीज़ आदि| इसे Incognito Mode में आप ब्लॉक क्र सकते है|

लेकिन इस मोड में आपकी ऑनलाइन प्राइवेसी किसी भी तरह से प्रभाबित नहीं होती  है |

असल में आपका ब्राउज़र कुकीज़, टेम्पररी इंटरनेट फाइल या आपका ब्राउज़िंग हिस्ट्री को सेव नहीं करता , जब आप incognito mode मैं होते|

इसका सब से मैन उद्देश्य आपकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री को छिपाना जो उसी कंप्यूटर मैं इस्तेमाल करते है|  कई users  को incognito  मूड की सीमाओं के बारे में गलत समझते है Incognito  टैब ओपन करते समय स्पस्ट warning  की पेशकस के बावजूद कुछ लोग सोंचते है की यह उनकी ऑनलाइन एक्टिवटीज को ISP या एम्प्लायर सहित सभी लोगों से छुपाते है जब की यह स्पस्ट रूप से ऐसी बात नहीं है|

इसके साथ ही आपके कंप्यूटर पर इंस्टाल किये गए सॉफ्टवेयर INCOGNITO  MOOD  पर जाने से प्राइवेसी प्रोटेक्शन को भी खतरा बना रहता है |

Spyware जो की कम्प्यूटर पर इंसटाल है , वे भी incognito mode के उपयोग के बावजूद आपकी इनफार्मेशन को कलेक्ट करना जारी रख सकता incognito  mode और अन्य प्राइवेट ब्राउज़िंग mode  उपयोगी होते है और वे लोकल प्राइवेसी सुरक्षा का एक लेकर प्रदान करता है जो इसका लाभ लेना आसान बनता है|

जब तक उससे उनकी  लिमिटेशन से अबगत होते है और एक जादू की उम्मीद नहीं करते है जो पूरी तरह से उनकी ऑनलाइन एक्टिवटी छुपता है तो यह एक उपयोगी टूल हो सकता है जो आसान है और भरोसेमंद भी
तो किआ ऑनलाइन Private  Browsing  के लिए एक रास्ता है|

Google , Bing या अन्य जो भी प्रोफेसनल सर्च इंजन को आप इस्तेमाल करते है बे सभी आपकी सर्च हिस्ट्री लोकेशन सहित आपके बारे मैं डाटा को कलेक्ट करता है इसकी मदद से बे अपनी सेविसेस और रिलेवेंट एड्स को बेहतर बनता है

3 COMMENTS

  1. Hi, i feel that i saw you visited my weblog so i got here to return thefavor?.I’m attempting
    to
    to find issues to
    enhance my website!I suppose its good enough to use a few of your
    concepts!!

  2. I was recommended this web site by my
    cousin. I am not sure whether this post is written by him as nobody
    else know such detailed about my difficulty.

    you’re wonderful! Thanks!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here